विराट कोहली की जीवनी 




परिचय 



नाम - विराट प्रेम कोहली 
जन्म - 5 नवम्बर 1988 
जन्मस्थान - दिल्ली 
पिता का नाम - प्रेम कोहली 
माता का नाम - सरोज कोहली 

विराट कोहली भारतीय  किरकेट टीम के खिलाडी है और जब से उन्होंने किरकेट खेलना शुरू किया तब से लोग उसके किरकेट के दीवाने हो गए।साल 2008 में , जब उसकी उम्र 19 साल से भी कम हो रही थी तो वे अंडर 19 भारतीय टीम के विश्व कप के विजेता दल के कप्तान भी रह चुके है। विराट कोहली बेहतरीन बल्लेबाजों की  गिनती में शामिल है। उसके नाम से अनेक विश्व रिकॉर्ड शामिल है। 

प्रारंभिक जीवन  



विराट कोहली का जन्म 5 नवम्बर 1988 को दिल्ली में हुआ। उसके पिता  प्रेम कोहली जो कि  एक अधिवक्ता थे और माता सरोज कोहली एक  गृहिणी  है। उसका एक  बड़ा  भाई भी है जिसका नाम विकास और  एक बड़ी बहन है जिसका नाम  भावना है।वे अपना बचपन दिल्ली के उत्तमनगर में बिताया।  जब वे तीन साल के थे तब उसने अपने हाथ में बैट को पकड़ा और पिता को गेंद फेंकने को कहा।  

कोहली ने अपनी पढ़ाई विशाल भारती स्कूल से की है। इंटर की पढ़ाई सवियर कॉन्वेंट से की। उसने अपनी पढ़ाई 12 वी तक ही की।उसने अपना पूरा ध्यान खेलने में लगा दिया  और कॉलेज की पढ़ाई नहीं की। उसे बचपन से ही किरकेट खेलने का जोश   था। वे मध्यम क्रम के बल्लेबाज है और दाएं हाथ के मध्यम गति से बॉलिंग करते है।

उसकी आयु जब 9 साल की थी तो पड़ोसी ने उसके पिता को सलाह दी की उसके किरकेट के इस हुनर को इस तरह से बर्बाद ना करे। उसे प्रोफेशनल ट्रेनिंग में दिलवाएं। तब जाके उसके पिता ने उसे दिल्ली किरकेट अकादमी में  नामांकन करवाया। वहां उस ने राजीव कुमार शर्मा के हाथों प्रशिक्षण लिया और सुमित अकादमी में मैच खेला। 

कोहली के पिता जी की मृत्यु 18 दिसम्बर 2006 को ब्रेन स्टॉक की कारण हुई तब उनको बहुत बड़ा धक्का लगा। उसने बीते हुए दिन को याद करते हुए कहा कि  मैंने अपने जीवन में बहुत कुछ झेला है। मैंने अपने युवा दिनों में   पिता को खो दिया जिससे घर की आर्थिक स्थिति गड़बड़ा गई और यहाँ तक की किराये के मकान में रहना पड़ा।उस वक्त मेरे और मेरे परिवार के लिए  काफी मुश्किल था।




विराट कोहली के किरकेट करियर के बारे में 




विराट कोहली के  पिता का  जब देहांत हुआ तब वे दिल्ली की तरफ से रणजी मैच खेल रहे थे। वे  दाएं हाथ के बल्लेबाज है और कभी कभी दाएं हाथ से बॉलिंग भी किया करते है  । रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु आई पी  ऐल टीम के कप्तान है। साल 2008 में वे भारतीय किरकेट टीम अंडर 19 विश्व कप के विजेता बने तब वे भारतीय टीम के कप्तान थे ।  कुछ महीने के बाद श्रीलंका के खिलाफ उसने अपने अन्तर्राष्ट्रीय करियर की शुरुआत की।

विराट कोहली को शुरुआत में आरक्षित खिलाडी के रूप में रखा जाता था परन्तु  जल्द ही वनडे किरकेट में मध्यम  क्रम उसने अपने आप को साबित कर के दिखाया।

साल 2011 में विश्वकप जीतने वाली भारतीय टीम में से एक विराट कोहली थे।साल 2011 में विराट कोहली  वेस्टइंडीज के विरुद्ध किंग्स्टन में  पहला टेस्ट मैच खेला। उसके बाद 2013 में  ऑस्ट्रेलिया और दक्षिण अफ्रीका में   वनडे मैच खेला और शतक लगाया  जिस कारण उसे वनडे स्पेशलिस्ट के नाम से जानते है। आई सी सी वनडे रैंकिंग में इसी साल पर पहुँचे। 




साल 2012 में कोहली को भारतीय वनडे टीम में उप कप्तान के रूप में चुना गया। ऐसा बहुत समय आया जब भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की अनुपस्थिति में उसने बेहतरीन कप्तानी की बागडोर संभाली। साल 2014 में जब धोनी ने सन्यास लिया तब उसके बाद कोहली को टेस्ट टीम की कप्तानी सौंपी गयी। उसने अपने नाम से कई रिकॉर्ड शामिल किये है जैसे कि सबसे तेज वनडे शतक , वनडे किरकेट में सबसे तेज 5000 रन और 10 वनडे शतक बनाना भी शामिल है।

कोहली ऐसे बल्लेबाज है जिसने 4 सालों तक वनडे क्रिकेट में 1000 से भी ज्यादा रन बनाये है। साल 2015 में , उसने 20 20 में 1000 रन बनाने वाले विश्व के तेज बल्लेबाज बने।

कोहली को  कई पुरस्कारों से सम्मानित किया गया  जैसे कि; -

1. साल 2012 में आई सी सी ODI प्लेयर ऑफ़ द ईयर से सम्मानित किया गया।
2 . BCCI द्वारा 2011-12 का  सर्व श्रेष्ठ अंतर राष्ट्रीय क्रिकेटर घोषित किया गया।
3 . साल 2013 में अन्तर्राष्ट्रीय क्रिकेट में अर्जुन पुरस्कार से सम्मानित किया गया।