क्रिकेटर महेंद्र सिंह धोनी की  जीवनी 


नाम - महेंद्र सिंह धोनी 
जन्म - 7 जुलाई 1981 
जन्मस्थान - रांची (बिहार ) , झारखण्ड 
पिता - पान सिंह 
माता - देवकी देवी 
शादी की - शाक्षी सिंह रावत 

प्रारंभिक जीवन 


महेंद्र  सिंह धोनी का जन्म 7 जुलाई 1981 को रांची (बिहार ) झारखण्ड में हुआ।  उनके पिता का नाम पान सिंह और माता का नाम देवकी देवी है। उसके पैतृक गांव लावली  उत्तराखंड के अल्मोड़ा जिले के अंतर्गत लामगढ़ा ब्लॉक में है उसके माता पिता उत्तराखंड से रांची चले आये। वहां उसके   पिता जी श्री पान सिंह मेकोन कंपनी जे जूनियर मैनेजमेंट वर्ग में काम करने लगे। 

धोनी की एक बहन और एक भाई है बहन का नाम जयंती और भाई का नाम नरेंद्र। धोनी  एडम गिलक्रिस्ट का बहुत बड़ा फैन है और सचिन तेंदुलकर धोनी के बचपन के आदर्श खिलाडी और अभी के सह खिलाडी थे। धोनी को बॉलीवुड अभिनेता अमिताभ बच्चन और गायिका में लता मंगेशकर पसंद  थे। 

धोनी  दी  ए वी जवाहर विद्या मंदिर , श्यामली , रांची, झारखण्ड में पढ़ते थे जहाँ से उन्होंने शुरू से ही बैडमिंटन और फुटबॉल में अपना  बहुत शानदार प्रदर्शन करते थे इसी अच्छे प्रदर्शन को देखकर उसे जिला और क्लब लेवल में चुना गया। धोनी फुटबॉल टीम के गोलकीपर रह चुके थे। उसे लोकल क्रिकेट क्लब में क्रिकेट खिलने के लिए उनके फुटबॉल कोच ने भेजा था।

दरअसल धोनी ने कभी क्रिकेट  नहीं खेला था, तब पर भी उसने अपने विकेट कीपिंग के कौशल को प्रभावित किया। कमांडो क्रिकेट क्लब में 1995 -98 में नियमित विकेटकीपर बने। 1997/98 से धोनी ने क्रिकेट क्लब में  अच्छा प्रदर्शन करने के कारण सीजन के वीनू मांकड़ ट्रॉफी अंडर 16 चैम्पियनशिप में चुने गए जहाँ से उन्होंने बेहतरीन प्रदर्शन किया , दसवीं कक्षा के बाद से ही धोनी ने अपना ध्यान दिया।


धोनी के घर की  स्तिथि ठीक नहीं थी इसलिए उनके पिताजी चाहते   थे की धोनी कोई अच्छी नौकरी करे , जिस  कारण रेलवे में टी टी की नौकरी करे। धोनी ने वहां भी अपना हुनर दिखाया।  वे दक्षिण रेलवे के 2001 से 2003 तक खड़गपुर रेलवे स्टेशन पर टीटीइ रह चुके।

धोनी की जीवनी 


महेंद्र सिंह धोनी एक भारतीय क्रिकेट खिलाडी है जिसे हम एम एस धोनी के नाम से जानते है। .इसका उपनाम माही है।  वह एक दाएं हाथ के मध्यक्रम बल्लेबाज और विकेटकीपर है। 

धोनी ने झारखण्ड क्रिकेट टीम में 1998 -99 में अपना योगदान दिया  और भारत ए टीम के लिए 2004 में हुए केन्या दौरे का प्रतिनिधित्व करने के लिए चयनित हुए। धोनी ने गौतम गंभीर के साथ मिलकर त्रिदेशीय श्रृंखला में पाकिस्तान ए के खिलाफ कई शतक बनाये और उसी साल के अंत में भारतीय राष्ट्रीय टीम में चयनित हुए।

धोनी उन विकेट कीपर में से एक  है जो  जूनियर और भारत के ए क्रिकेट टीम से चलकर राष्ट्रीय दल में प्रतिनिधित्व किया।उसने 2004 से बंगलादेश के विरुद्ध अपने एकदिवसीय क्रिकेट की शुरुआत की।

एम एस  धोनी एक सफल भारतीय क्रिकेटर और भारतीय  टीम के पूर्व कप्तान थे और उसकी कप्तानी से भारत ने 2007 आईसीसी विश्व 20-20 कप ,2007 -08 कॉमनवेल्थ बैंक सीरीज, बॉर्डर गावस्कर ट्रॉफी और 2011 आईसीसी वर्ल्ड कप जीते। धोनी को कई सम्मान भी प्राप्त हुए  जैसे ;- आईसीसी वनडे प्लेयर ऑफ़  द इयर, राजीव गाँधी खेल रत्न पुरस्कार, पद्मश्री पुरस्कार।         

धोनी ने 2011 के वर्ल्ड कप के फाइनल में ऐसी पारी खेली जिस कारण भारत को विश्व चैम्पियन बनाने के लिए बहुत मदद की
 जून 2013 में , इंग्लैंड में जब भारत ने चैम्पियंस ट्रॉफी के फाइनल में इंग्लैंड को पराजित किया था ,धोनी ने उस समय भारत को तीनो सीमित ओवर की ट्रॉफी दिलाने वाले पहले कप्तान बन गए।

धोनी ने साल 2008 में  टेस्ट मैच की कप्तानी ली और उसके बाद भारतीय टीम को सफलता के शिखर पर ले जाकर  न्यूजीलैंड  और वेस्टइंडीज में जीत दिलाई। साल 2009 में धोनी ने पहली  बार भारतीय टीम को टेस्ट रैंकिंग में पहले पायदान पर पहुँचाया। 

साल 2013 में , उनकी कप्तानी में भारत 40 वर्षों बाद पहली ऐसी टीम बनी जिसने ऑस्ट्रेलिया को टेस्ट मैचों में वाइट वाश किया। धोनी दुनिया के ऐसे पहले कप्तान है जिसके पास आईसीसी के सभी कप है।
इंडियन प्रीमियर लीग में धोनी चेन्नई सुपर किंग्स के कप्तान बने. साल 2010 और 2011 में इतिहास रचा।

धोनी नेसाल  2014 में  टेस्ट क्रिकेट से सन्यास ले ली। 4 जनवरी 2017 को भारतीय एक दिवसीय  टीम और 20-20  टीम की कप्तानी छोड़ दी।  

शादी; -  धोनी ने साक्षी सिंह रावत से शादी की जो उनकी स्कूल समय से दोस्त थी। शादी के समय साक्षी होटल मैनेजमेंट की पढाई कर रही थी और प्रशिक्षक की तरह तेज बंगाल कोलकाता में काम कर रही थी। धोनी 2015 को एक बेटी जीवा के पिता बने। 



This is the most recent post.
Older Post